'अनोखा सफर' - एक अद्भुत यात्रा (कहानी) - नवीन धनवर

आरम्भ   मैं एक बस में सबसे पीछे बैठा था। उस बस में और उसके पीछे वाले बस में भी बहुत से मेरी उम्र के …