बेसेक्स कप ( शेरलॉक होम्स की जासूसी कहानी) : आर्थर कानन डायल

 

 Berex Cup -  Sherlock Holmes ki Jasusi kahani in Hindi by Arthur Conan Doyle


1. न्यूटन मालिक हेथ—लाल टोपी, दालचीनी के रंगवाली जैकेट

2. पुगिलिस्ट मालिक कर्नल वार्डलॉ—गुलाबी टोपी, नीली-काली जैकेट

3. डेसबोरोग मालिक लार्ड बैकवाटर—पीली टोपी और बाँहदार जर्सी

4. सिल्वर ब्लेज मालिक कर्नल रॉस—काली टोपी, लाल जैकेट

5. आइरिश मालिक बालमोराल के. ड्यूक—पीली और काली पट्टी

6. रास्पर मालिक लार्ड सिंगलफोर्ड—बैंगनी टोपी, काली बाँहदार जर्सी



कर्नल ने कहा, ‘‘हमने अपने दूसरे घोड़े को हटा दिया और आपके आश्वासन पर अपनी सारी उम्मीदें लगा दीं। क्यों, क्या हुआ? कहाँ है सिल्वर ब्लेज?’’

रिंग से जोरदार आवाज आई, ‘‘सिल्वर ब्लेज पाँच से चार! सिल्वर ब्लेज पाँच से चार! डेसबरोग पाँच से पंद्रह। मैदान पर पाँच से चार।’’

मैं चीखकर बोला, ‘‘वहाँ संख्या बढ़ रही है, वहाँ पर सभी छह घोड़े मौजूद हैं।’’

कर्नल अधिक उत्तेजना से चीख पड़ा, ‘‘क्या वहाँ सभी छह घोड़े मौजूद हैं? इसका मतलब मेरा घोड़ा रेस में दौड़ रहा है? पर मुझे वह दिखाई नहीं पड़ रहा है। मेरा वाला रंग अभी सामने से नहीं गुजरा है।’’

‘‘केवल पाँच घोड़े ही गुजरे हैं, तब यही वाला होना चाहिए।’’

जैसे ही मैं बोला, एक तगड़ा गहरे भूरे रंग का घोड़ा भार मापन के सामने से गुजरा और उसकी पीठ पर कर्नलवाली जानी-बूझी काली टोपी और लाल जैकेट भी मौजूद थी।

घोड़े का मालिक चीखा, ‘‘वह मेरा घोड़ा नहीं है। उस घोड़े पर सफेद बाल नहीं हैं। मि. होम्स, यह आपने क्या किया?’’

मेरे साथी ने बिना परेशान हुए ही कहा, ‘‘देखो, देखो, वह कितना अच्छा दौड़ रहा है।’’ कुछ देर के लिए उसने मेरी दूरबीन लेकर देखा, वह आदतन चीखा,‘‘वाह! क्या शानदार शुरुआत है। वे सब वहाँ हैं और अब मोड़ पर घूम रहे हैं।’’

जब वे सीध में आते थे तब हमारी जगह से उनका दृश्य बहुत ही अच्छा दिखाई देता था। वे छह घोड़े आपस में इतने पास-पास थे कि एक कालीन से उनको ढका जा सकता था, परंतु आधी ही दूरी पर मेपल्टन अस्तबल का पीलावाला उनमें से आगे दिखा। इससे पहले कि वे हम तक पहुँचते, हालाँकि डेसबरोग की दौड़ काफी तेज थी, पर कर्नल का घोड़ा आँधी की तरह आया और अपने प्रतिद्वंद्वी के पहुँचने से छह लेंथ पहले ही पोस्ट को पार कर गया। बालमोराल के ड्यूक का आइरिश तीसरे नंबर पर था।

कर्नल ने लंबी साँस लंबी भरते हुए और हाथों से अपनी आँखों को ढकते हुए कहा, ‘‘कैसे भी करके, यह रेस मेरी हो गई।’’ मैं यह स्वीकार करता हूँ कि इस रेस में मैंने न तो चित देखी और न ही पट। मि. होम्स, क्या आपको ऐसा नहीं लगता है कि आपने अपने रहस्य को कुछ ज्यादा ही लंबा खींचा?’’

‘‘सचमुच, कर्नल! मगर आप सबकुछ जान जाएँगे।’’

‘‘आइए, साथ चलते हैं और घोड़े पर एक नजर डालते हैं।’’

कर्नल ने कहा, ‘‘घोड़ा इधर है, और वे हमें उस तरफ ले चले, जहाँ सिर्फ घोड़े के मालिकों और उनके मित्रों को ही जाने की अनुमति थी।’’

होम्स बोले, ‘‘आपको इस घोड़े के मुँह और पैरों को वाइन या स्प्रिट से धुलवाना होगा, तब आप देखेंगे कि यह वही पहलेवाला सिल्वर ब्लेज ही है।’’

‘‘तुमने मुझे बहुत ही खूबसूरत सरप्राइज दिया है।’’

‘‘मुझे यह घोड़ा एक जालसाज के पास मिला और जैसे ही यह वापस भेजा गया, मैंने इसके दौड़ने की आजादी हासिल कर ली।’’

‘‘आपने तो कमाल ही कर दिया। घोड़ा भी बिलकुल ठीक-ठाक दिख रहा है। यह अपनी जिंदगी में इतना अच्छा कभी नहीं दौड़ा। आपकी योग्यता पर शक करने के लिए मैं आपसे हजार बार माफी माँगता हूँ। आपने मेरा घोड़ा मुझे वापस देकर बहुत बड़ा एहसान किया है। आपकी मुझ पर एक और कृपा होगी, यदि आप जॉन स्टारकर के हत्यारे को भी पकड़ लें।’’

होम्स ने धीमे से कहा, ‘‘मैं यह भी कर चुका हूँ।’’

कर्नल और मैं उन्हें आश्चर्य से देखने लगे।

‘‘आपने उसे पकड़ लिया है! तब वह है कहाँ?’’

‘‘वह यहीं पर है।’’

‘‘यहाँ! कहाँ?’’

‘‘इस समय वह मेरे साथ ही है।’’

कर्नल गुस्से में भर गया और बोला, ‘‘मि. होम्स, मैं यह मानता हूँ कि आपका मुझ पर एहसान है, परंतु आपने अभी जो कहा, वह मेरे लिए एक बुरा मजाक या अपनी बेइज्जती ही है।’’

शेरलॉक होम्स हँस पड़ा, ‘‘मैं आपको इसके लिए निश्चिंत कर देता हूँ कि मैंने आपको इस अपराध में शामिल नहीं किया है। असली हत्यारा तो आपके पीछे खड़ा है।’’

इसके साथ ही वह पीछे हटा और अपना हाथ उस घोड़े की चमकदार गरदन पर रखा।

‘‘घोड़ा!’’ मैं और कर्नल दोनों ही चीखते हुए बोले।

‘‘जी हाँ, यही घोड़ा। और यदि मैं कहूँ कि यह इसने अपनी आत्मरक्षा में किया है तो यह इसके अपराध को कम कर सकता है। साथ ही जॉन स्टारकर आपके विश्वास के लिए बिलकुल ही अयोग्य व्यक्ति था।’’

‘‘देखिए, अगली रेस की घंटी बज गई। मैं अगली रेस में भी थोड़ी सी रकम जीतना चाहता हूँ। उपयुक्त समय मिलते ही मैं इस सब के बारे में विस्तार से बताऊँगा।’’

उस शाम लंदन के लिए वापस अपने कोच में जब हम जा रहे थे, तब मुझे लगता था कि यह यात्रा कर्नल रॉस के साथ-साथ मेरे लिए भी काफी छोटी थी, क्योंकि मेरे साथी ने सोमवार की उस रात को डार्टमोर के प्रशिक्षण अस्तबल में घटी उस घटना को कुछ इसी ढंग से हमें बताया था।

होम्स ने कहा, ‘‘मैं यह मानता हूँ कि अखबारों की सूचनाओं के आधार पर मैंने जो भी धारणाएँ बनाई थीं, वे पूरी तरह से गलत थीं। और फिर वहाँ इसके संकेत थे कि इसमें कौन सी वे तमाम जानकारियाँ नहीं थीं, जिन्होंने सच्चाई को भी छुपाया गया था। मैं पूरे यकीन के साथ डेवानशायर गया था कि फिट्जराय सिंपसन ही वास्तविक अपराधी है, हालाँकि मुझे लग रहा था कि उसके खिलाफ मिले सबूत पूरी तरह से सही नहीं हैं। जब मैं घोड़ागाड़ी में था और प्रशिक्षक के घर पहुँचने ही वाला था कि तभी उस मसालेदार मटन की विशेषता पर मेरा ध्यान गया। आप लोगों को याद होगा कि उस समय सभी प्रसन्न थे और मैं अनमना सा चुपचाप बैठा हुआ था। मैं अपने खुद के ही दिमाग पर अचंभित था कि इतने प्रत्यक्ष सुराग को मैंने कैसे अनदेखा कर दिया।’’

कर्नल ने कहा, ‘‘मैं मानता हूँ कि अभी भी मैं नहीं देख पा रहा हूँ कि यह किस तरह से हमारे लिए सहायक है।’’

‘‘मेरे तर्कों की शृंखला की यह पहली कड़ी थी। अफीम का चूरा किसी भी हाल में स्वादहीन नहीं होता है। इसकी सुगंध बेकार नहीं है, पर इसे समझा जा सकता है, और जब इसे किसी सामान्य खाने में मिलाया जाता है तब खानेवाले को तुरंत ही इसका पता चल जाता है और तब वह संभवतः इसे और अधिक नहीं खाएगा। वह मटन करी तो सिर्फ एक माध्यम थी, जिससे उस स्वाद को धोखा दिया जा सके। इसमें किसी भी अनुमान की संभावना नहीं है कि उस अजनबी फिट्जराय सिंपसन ने उस रात को प्रशिक्षक के परिवार को वह करी परोसी थी और यह वाकई बहुत ही भयानक संयोग माना जाएगा कि वह उस रात को अफीम का चूरा लेकर आया तथा जब करी परोसी गई, तब उसने इसकी महक को छिपाने के लिए उसे इसमें मिला दिया। यह बात सोच से बिलकुल ही परे है। इसीलिए सिंपसन तो इस मामले में अलग हो जाता है और हमारा ध्यान अब स्टारकर एवं उसकी पत्नी पर केंद्रित होता है कि यही वे दो लोग थे, जिन्होंने उस रात मसालेदार मटन को परोसने का निर्णय लिया था। जब खाना अस्तबलवाले लड़के के लिए अलग निकालकर रख दिया गया था, तभी इसमें अफीम मिलाई गई थी, क्योंकि दूसरों ने जब वही खाना खाया, तब उन पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ा। उनमें से वह कौन था, जो नौकरानी की निगाह बचाकर उस खाने के पास पहुँचा था?

‘‘इस प्रश्न का जवाब तय करने से पहले मैंने उस कुत्ते की चुप्पी पर भी ध्यान दिया, क्योंकि एक वास्तविक निष्कर्ष निरपवाद रूप से दूसरे तथ्यों को भी दिखा देता है। सिंपसनवाली घटना से मुझे यह पता चल गया था कि वह कुत्ता अस्तबल में ही रहता था, मगर जब कोई अस्तबल में घुसा और घोड़े को ले गया, कुत्ता तब इतना भी नहीं भौंका कि गैलरी में सोए वे दोनों लड़के भी जाग पाते। इसका मतलब साफ है कि आधी रात को आनेवाले आगंतुक को कुत्ता अच्छी तरह से पहचानता था।

‘‘मैं पूरी तरह से निश्चिंत था कि जॉन स्टारकर ही उस रात के अँधेरे में अस्तबल में गया था और उसी ने सिल्वर ब्लेज को बाहर निकाला था। पर किस लिए? यह बिलकुल ही स्पष्ट है कि बेईमानी के लिए और इसने अपने ही अस्तबल के लड़के को नशीला पदार्थ क्यों खिलाया था? इस क्यों को जानने में मैं अभी भी असफल था। इससे पहले इस तरह के बहुत से मामले आए हैं, जिसमें अपने ही घोड़ों को दलालों के हाथों सौंप और उन्हें धोखेबाजी से जीतने से रोककर काफी पैसा बनाया है। यह काम कभी-कभी जॉकी को मिलाकर और कभी-कभी निश्चित और सूक्ष्म ढंग से किया जाता है। यहाँ इसमें से कौन सा तरीका अपनाया गया था? मुझे उम्मीद थी कि उसकी जेब से निकले सामानों से ही मुझे सहायता मिल सकती थी।

‘‘और इसमें हुआ भी ऐसा ही। आपको याद होगा कि उस मृतक के हाथ में एक खास तरह का चाकू मिला था, जिसका कोई भी समझदार आदमी बतौर हथियार इस्तेमाल नहीं करेगा। डॉ. वाटसन ने जैसा कि हमें बताया था कि इस तरह के चाकू का इस्तेमाल बड़े ही खास तरह के ऑपरेशन में चीर-फाड़ के लिए किया जाता है और इसका इस्तेमाल उस रात को एक खास तरह के ऑपरेशन के लिए ही किया जानेवाला था। कर्नल रॉस, आपको रेस के मामलों में हुए अपने ढेरों अनुभवों से यह पता होगा कि घोड़े के पुट्ठे पर उसकी नस में एक छोटा सा चीरा लगाना संभव है और इसे चमड़ी के भीतर लगाया जा सकता है, ताकि किसी तरह का निशान न दिखाई पड़े। इस तरह से तैयार किया गया घोड़ा थोड़ा सा लँगड़ाने लगेगा और इसे अपने अभ्यास के दौरान खिंचाव महसूस होगा या गठिया से पीडि़त हो जाएगा और इसमें कोई बेईमानी भी नहीं दिखेगी।’’

कर्नल चीखा, ‘‘बदमाश! दुष्ट!’’

‘‘हमें इस बात की जानकारी हो चुकी है कि जॉन स्टारकर क्यों उस घोड़े को बंजर टीले पर ले जाना चाहता था? ऐसे तेज, तर्रार घोड़े को जब चाकू का चीरा लगाया जाएगा तब वह गहरी से गहरी नींद में सोनेवालों को भी जगा देगा, इसीलिए ऐसे काम के लिए खुले मैदान का होना बहुत ही जरूरी है।’’

कर्नल ने कहा, ‘‘मैं अंधा हो गया था। और हाँ, इसीलिए उसने मोमबत्ती भी जलाई थी।’’

‘‘बेशक! पर उसके सामानों की जाँच करते वक्त मैं इतना भाग्यशाली था कि मुझे न केवल उस अपराध का तरीका ही पता चला बल्कि उसके उद्देश्य का भी पता चल गया था। एक दुनियादार आदमी होने के नाते कर्नल! आप जानते ही हैं कि कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे की बिल पर्चियाँ अपनी जेब में रखकर नहीं घूमता है। हममें से अधिकतर लोग अपने खुद के ही बिल चुकता करने के लिए रख लेते हैं। मुझे यह तुरंत ही पता चल गया था कि स्टारकर दोहरी जिंदगी जी रहा था और उसने कहीं और भी अपना दूसरा घर बसा रखा था। बिल देखकर लगता था कि इस मामले में एक महिला भी है और जिसका स्वभाव काफी खर्चीला है। यह बात और है कि आप अपने नौकरों के साथ बहुत उदार हैं, फिर भी इसकी आशा कम ही है कि वे अपनी औरतों के लिए बीस गिन्नी की महँगी ड्रेस खरीद सकेंगे। मैंने श्रीमती स्टारकर से यह जानते हुए कि उनको पता नहीं है, फिर भी उनसे उनकी ड्रेस के बारे में पूछा था, इस बात से मैं संतुष्ट हो चुका था कि यह ड्रेस उन तक नहीं पहुँची थी। तब मैंने औरतों के परिधान सिलनेवाले का पता वहाँ से ले लिया और यह महसूस किया कि डर्बीशायर में उसे स्टारकर का फोटोग्राफ दिखाकर मैं आसानी से जानकारी प्राप्त कर लूँगा।

‘‘और इसके बाद तो सारा कुछ स्पष्ट था। स्टारकर घोड़े को उस गड्ढे में ले गया था जहाँ रोशनी नहीं थी। भागते समय सिंपसन का मफलर गिर गया था, जिसे स्टारकर ने घोड़े के पैरों से सुरक्षा के इस्तेमाल के इरादे से उठा लिया था। उस गड्ढे में वह जब घोड़े के पीछे आया और रोशनी जलाई तब घोड़ा उस अचानक पैदा हुई रोशनी से डर गया और जानवर की अजीब सी प्रकृति कि उसके साथ कुछ बुरा घटने वाला है, वह बिदक गया और उसने अपने स्टीलवाले खुरों से स्टारकर के माथे पर जोरदार प्रहार कर दिया। उधर स्टारकर बारिश होने के बावजूद इस सावधानी से करनेवाले काम के लिए अपना ओवरकोट पहले ही उतार चुका था, अतः वह गिर पड़ा और उसका चाकू उसकी ही जाँघ में धँस गया।’’

‘‘मैं अब सबकुछ स्पष्ट कर चुका हूँ।’’

कर्नल जोर से चिल्लाया, ‘‘कमाल है। कमाल हो गया, लगता है आप वहीं थे।’’

मेरा अंतिम निशाना, मैं स्वीकार करता हूँ, काफी लंबा था। मुझे इस बात ने सोचने पर मजबूर कर दिया था कि स्टारकर जैसा घाघ आदमी बिना किसी पूर्वाभ्यास के ही क्या नस काटनेवाले इस खास तरह के चाकू का इस्तेमाल कर लेगा? उसने किन चीजों पर अभ्यास किया होगा? मेरी निगाह भेड़ों पर पड़ी और मैंने प्रश्न पूछा था, जिससे मुझे आश्चर्य के साथ पता चला कि मेरा अनुमान सही॒था।

‘‘जब मैं लंदन वापस लौटा तो मैंने उस ड्रेस बनानेवाले से स्टारकर के बारे में पूछा, उसने बताया कि डर्बीशायर में स्टारकर उसका एक असाधारण ग्राहक है, जिसकी एक खूबसूरत और बहुत ही महँगे शौक रखनेवाली बीवी भी है। मुझे इसमें कोई शक नहीं है कि उस महिला ने स्टारकर को सिर से पाँव तक कर्ज में डुबो दिया होगा और जिसकी वजह से उसे इस दुःखद रास्ते को अपनाना पड़ा होगा।

कर्नल ने जोर देकर कहा, ‘‘आपने सभी चीजें बताईं, पर एक बात छोड़ दी, वह घोड़ा कहाँ था?’’

‘‘हाँ, यह एक जगह बंद था और आपके एक पड़ोसी ने इसका खयाल रखा था। मैं सोचता हूँ कि हमें उसे क्षमा करते हुए भूल जाना चाहिए। मालूम पड़ता है क्लैफाम जंक्शन आ गया है। अगर मैं गलत नहीं हूँ तो हम दस मिनट से भी कम समय में विक्टोरिया में होंगे। कर्नल, अगर आप हमारे कमरे में साथ ही सिगार पीने चलें तो मुझे आपको कुछ और तरह के किस्से सुनाने में भी खुशी होगी, और हो सकता है, उन्हें सुनने में आपको भी मजा आए।’’





Sherlock Holmes story in hindi, शेरलॉक होम्स के रचयिता कौन थे, शेरलॉक होम्स रहस्यकथा pdf , शेरलॉक होम्स रहस्यकथा PDF Free Download, Adventure of Sherlock Holmes in Hindi, Sherlock Holmes Books in Hindi PDF free download, The Copper Beeches story in hindi, The Adventure of the Silver Blaze, फ्री हिंदी जासूसी उपन्यास, डिटेक्टिव स्टोरी इन हिंदी, हिन्दी की सर्वश्रेष्ठ कहानियाँ PDF, जासूसी कहानियाँ PDF, विश्व प्रसिद्ध जासूसी कहानियाँ, थ्रिलर कहानी, फ्री हिंदी जासूसी उपन्यास, Hindi jasoosi Novel free download, Comixtream mein Hindi jasoosi novel free Download, Jasoosi Duniya Hindi PDF free download