पानी पीकर दिमाग कैसे बढ़ाएं? (आसान तरीका)



क्या आप जानते हैं कि हमारे जीवन के लिए दो महत्त्वपूर्ण चीजें क्या हैं? जी हां, ये हैं, हवा तथा पानी। 

जहां तक पानी का संबंध है यह हमारे सारे शरीर में पाया जाता है। लेकिन कुछ अंग ऐसे जिनमें अधिक मात्रा में पाया जाता है। जैसे फेफड़े, दिमाग, पाचक रस, लार आदि। 

ये सभी अंग तभी बेहतर ढंग से काम करते हैं अगर इन्हें पर्याप्त मात्रा में पानी मिलता रहे। दिमाग जो रासायनिक तत्व बनाता है पानी ट्रांसपोर्ट करने में सहायता करता है। इस प्रकार सूचना शरीर के विभिन्न भागों तक पहुंच जाती है। यदि आप यह चाहते है कि दिमाग अच्छी तरह अपने कार्य को अंजाम दे तो प्रचुर मात्रा में पानी पियें। रोजाना कम से कम आठ से दस गिलास पानी जरूर पियें। अगर आप थका हुआ महसूस कर रहे हैं, पसीने में तर हैं तो तुरंत पानी पीना आपको ताजगी प्रदान करेगा। 

मैं आपको इसके और फ़ायदे बताता है। पानी शरीर के प्रमुख द्रव्यों को निश्चित मात्रा में बनाये रखता है। यह हमारे शारीरिक तापमान से संतुलन रखता है तथा हानिकारक रसायनों जैसे पेशाब, पसीने के माध्यम से शरीर से बाहर निकालता है। इसके अलावा शरीर की चमड़ी को मुलायम रखता है। क्या यह दिमाग तथा शरीर को सुन्दर बनाये रखने का आसान तरीका नहीं है? पानी हमारी आंतों में जमे मल तथा अन्य गंदगी को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है इस प्रकार हमारी पाचन प्रक्रिया स्वस्थ बनी रहती है। जिससे हमारे शरीर के जरूरी अंगों को ऊर्जा मिलने में मदद मिलती है। और हम ठीक ढंग से काम कर पाते हैं। कुल मिलाकर समस्त प्रक्रिया हमारे दिमाग को बेहतर ढंग से सोचने, समझने, स्मरण करने तथा ग्रहण करने में मदद करती है। 

इसलिए हमेशा पानी की बोतल अपने साथ रखे। ताकि जब कभी पानी की जरूरत महसूस हो इसे अपने पास पायें। अगर आप पढ़ने के लिए बैठे हुए हैं तो बोतल मेज़ पर रखें और थोड़े अंतराल के बाद पानी पीते रहें। आप परीक्षा भवन में भी पानी बोतल साथ ले जा सकते हैं।