भगवान श्रीकृष्ण और अर्जुन संवाद का एक सुंदर अंश।।


दुर्योधन ने श्रीकृष्ण की पुरी नारायणी सेना माँग ली थी और अर्जुन ने केवल श्रीकृष्ण को माँगा था।
          उस समय भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन की चुटकी (मजाक) लेते हुए कहा:
हार निश्चित है तेरी, हर दम तू रहेगा उदास।
माखन दुर्योधन ले गया, केवल छाछ बची है तेरे पास।

अर्जुन ने कहा:- हे प्रभु!
जीत निश्चित है मेरी, दास हो नही सकता उदास।
माखन लेकर क्या करूँ, जब माखन चोर है मेरे पास।